Nobel prize on Chemistry 2023

0410,2023

स्वीडिश अकेडेमी ऑफ साइंसेस ने चिकित्सा, भौतिकी के बाद रसायन के क्षेत्र मे नोबेल पुरस्कारों की घोषणा कर दी है इसके अनुसार 2023 का.रसायन नोबेल पुरस्कार संयुक्त रुप से    

 मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से मौंगी जी. बावेंडी, कोलंबिया विश्वविद्यालय से लुईस ई. ब्रूस और नैनोक्रिस्टल टेक्नोलॉजी में काम करने वाले एलेक्सी आई. एकिमोव को दिया गया है। 

यह ‘क्वांटम डॉट्स की खोज और संश्लेषण के लिए के लिए दिया गया है। इन्हें क्वांटम डॉट्स की खोज और इसके डेवलपमेंट के लिए ये सम्मान मिला है।

क्वांटम डॉट्स ऐसे नैनोपार्टिकल्स हैं जो इतने छोटे होते हैं कि उनका आकार उनके गुणों को निर्धारित करता है।क्वांटम डॉट्स का इस्तेमाल आज कंप्यूटर मॉनिटर, मोबाइल, टेलीविजन स्क्रीन को रोशन करने के लिए किया जाता है। इसमें QLED तकनीक का इस्तेमाल होता है। क्वांटम डॉट्स की लाइट इतनी तेज होती है कि जब इसे ट्यूमर पर डाला जाएगा, तो सर्जन्स को उसके टिश्यू देखने में कोई परेशानी नहीं होगी

 प्राइज जीतने वाले केमिस्ट्स का मानना ​​है कि भविष्य में क्वांटम डॉट्स फ्लेक्सिबल इलेक्ट्रॉनिक्स, छोटे सेंसर, पतले सोलर सेल और शायद एन्क्रिप्टेड क्वांटम कम्युनिकेशन में योगदान दे सकते हैं। किसी तत्व के गुण इस बात से नियंत्रित होते हैं कि उसमें कितने इलेक्ट्रॉन हैं।

हालांकि, जब पदार्थ नैनो-डायमेंशन में सिकुड़ जाता है तो क्वांटम फेनोमेना पैदा होता हैं। ये पदार्थ के आकार से नियंत्रित होते हैं। रसायन विज्ञान 2023 में नोबेल पुरस्कार विजेताओं ने इतने छोटे कण बनाने में सफलता हासिल की है कि उनके गुण क्वांटम घटना से निर्धारित होते हैं। कण, जिन्हें क्वांटम डॉट्स कहा जाता है,जो  अब नैनोटेक्नोलॉजी में बहुत महत्व रखते हैं

Nobel prize 2023 ,Chemistry Nobel Prize 

05:28 am | Admin


Comments


Recommend

Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

What was Gandhi's philosophy of nonviolence?

philosophy

गांधी दर्शन में अहिंसा   अहिंसा ⇒ गांधी दर्शन में अहिंसा को अत्यधिक महत्व दिया गया है। गांधी जी ने अहिंसा को निषेधात्मक (क्या नहीं ...

0
Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

What is the main idea of cogito ergo sum?

philosophy

देकार्ट का आत्म-विचार / मैं सोचता हूँ अत: मैं हूँ  ⇒संशय विधि द्वारा देकार्ट इस निष्कर्ष पहुँचा कि आत्मा पर संशय नहीं किया जा सकता क...

0

Subscribe to our newsletter