INFRASTRUCTURE OF ECONOMY

0911,2023

अर्थव्यवस्था के क्षेत्र तथा अवसंरचना

⇒दोस्तों भारतीय अर्थव्यवस्था प्राथमिक क्षेत्र से तृतीयक क्षेत्र में प्रवेश कर गयी इसके निम्नलिखित कारण है –

  1. भारत जब स्वतंत्र हुआ तब यहाँ समाजवाद का प्रभाव था तथा अर्थव्यवस्था पर राज्य/सरकार का नियंत्रण था लेकिन सरकार के पास पैसे नहीं थे, जिसके कारण सरकार औद्योगिक क्षेत्र में निवेश नहीं कर पाई |परिणामतः औद्योगीकरण बड़े पैमाने पर नहीं हो पाया |
  2. भारत एक लोकतांत्रिक देश है चुकी यहाँ सरकार रोजगार हेतु लघु उद्योगों को प्रोत्साहित करने में लगी रही लेकिन फिर भी बड़े पैमाने पर उद्योगों का विकास नहीं हो पाया |
  3. सामाजिक-पूंजी अर्थव्यवस्था प्रतिबंधों और लालफीताशाही से ग्रस्त थी जिसे व्यापक रूप से "लाइसेंस राज" के रूप में जाना जाता था और इसलिए योजना आयोग की प्राथमिकता होने के बावजूद औद्योगिक क्षेत्र को कभी भी आवश्यक प्रोत्साहन नहीं दिया गया।
  4. 1991 के बाद जब भारत ने उदारीकरण को अपनाया तब बाहर से बहुराष्ट्रीय कम्पनियाँ भारत में आने लगी| इन बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने सेवा क्षेत्र में बड़े पैमाने पर निवेश किया जिससे लोगों की सेवा क्षेत्र में मांग बढ़ी और उपभोक्तावादी संस्कृति का विकास हुआ| परिणामतः द्वितीयक क्षेत्र का विकास नहीं हो पाया |

⇒दोस्तों द्वितीयक क्षेत्र में एक शब्द है अवसंरचना( Infrastructure)  :--

अवसंरचना( Infrastructure)  क्या है : -  अर्थव्यवस्था का संरचनात्मक तत्व जो उत्पादन में सहयोगी हो किन्तु उत्पादन में प्रत्यक्ष सहभागिता न हो |

यह दो प्रकार का हो सकता है :-

  1. भौतिक अवसंरचना – जैसे कि सड़क, रेलवे, बंदरगाह, एयरपोर्ट, नहर, बांध आदि
  • भौतिक अवसंरचना अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करती है क्योंकि अच्छी सड़क और तीव्र रेल परिवहन है तो उत्पाद को बाजार तक पहुचाने में कम समय लगेगा, जिसके फलस्वरूप उत्पाद प्रतिस्पर्धी होगा अर्थात उत्पाद की मांग ज्यादा होगा तो मांग को पूरा करने के लिए औद्योगीकरण ज्यादा परिणामतः रोजगार का सृजन ज्यादा होगा, जिससे गरीबी में कमी आ सकती है |
  • निवेशक उन क्षेत्रों में निवेश करेंगे जहाँ अच्छी सड़कें हो परिणामतः उस क्षेत्र का विकास ज्यादा होगा |
  • अवसंरचना के विकास से पलायन में कमी आएगी|

 

  1. सामाजिक अवसंरचना – जैसे कि शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल आदि|
  • शिक्षा अवसंरचना की विकास से दक्षता का विकास होगा परिणामतः मानव को मानव संसाधन में रूपांतरित कर देगा
  • यदि स्वास्थ्य अवसंरचना का विकास होगा तो सभी नागरिक स्वस्थ्य रहेंगे जिससे उत्पादन क्षमता में वृद्धि होगी |
  • गरीबी में कमी तथा जीवन स्तर में सुधार होगा |

 

 

05:13 am | Admin


Comments


Recommend

Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

Nobel Prize on Physics 2023

Nobel prize winner 2023

चिकित्सा मे नोबेल पुरस्कार की घोषणा के बाद अब भौतिकी (फिजिक्स) में इस साल (2023) के नोबेल पुरस्कार की घोषणा कर दी गई है. रॉयल स्वीडिश एकेडमी...

0
Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

Successful launch of INSAT-3DS

ISRO

इनसैट-3DS का सफल प्रक्षेपण ⇒इसरो के द्वारा जीएसएलवी-एफ 14 प्रक्षेपण यान के द्वारा  17 फरवरी को शाम को इनसैट - 3DS का सफल प्रक्षेपण किया गया...

0

Subscribe to our newsletter