Nobel Prize on Economics 2023

0910,2023

हार्वर्ड  यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर. क्लॉडिया गोल्डिन को साल 2023 का अर्थशास्त्र  का नोबेल पुरस्कार दिया गया है. ‘‘महिलाओं के श्रम बाजार के परिणामों के बारे में हमारी समझ को बेहतर बनाने के लिए’’ अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा की  गई है।।इस क्षेत्र मे नोबल जीतने वाली ये तीसरी महिला हैं।।

Nobel Prize on Economics 2023

 वो डिटेक्टिव बनना चाहती थीं और उन्होंने खुद को एक डिटेक्टिव  के रूप में हमेशा देखा क्योंकि वो चीजों के कारण और तथ्यों को खोजने के लिए हमेशा तैयार रहती थीं. 20 साल पहले उन्होंने एक पीस लिखा था जिसका विषय 'इकोनॉमिक्स डेटिक्टिव' पर था. उस समय से लेकर आज तक वो तथ्यों की खोज के जरिए सवालों के जवाब ढूंढने की कोशिश करती रहती हैं और इसी तरह उन्होंने हमेशा अपने शोध और रिसर्च कार्य को किया है. वो छोटी बच्ची थीं तब से वो डिटेक्टिव वर्क के प्रति उत्सुक रहती थीं. उन्होंने कहा कि डिटेक्टिव होने के पीछे सोच ये रहती है कि आप खुद से सवाल पूछते रहें और उनके सवालों के जवाब मिलने तक कार्यरत रहें. आज भी उनके अंदर ये सोच जिंदा है.

 

 

क्लाउडिया  ने सदियों से महिलाओं की कमाई और श्रम बाजार भागीदारी का पहला व्यापक विवरण मुहैया   कराने का काम किया है। उनके शोध से बदलाव के     कारणों और शेष लिंग अंतर के मुख्य स्रोतों का पता चला। इनके रिसर्च से पता चला कि वैश्विक श्रम बाजार में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बहुत कम है और जब वे काम करती हैं तो पुरुषों की तुलना में कम कमाती हैं। गोल्डिन ने अभिलेखों का पता लगाया और 200 वर्षों से अधिक का डेटा एकत्र किया, जिससे उन्हें यह साबित किया कि कमाई और रोजगार दरों में लिंग अंतर कैसे और क्यों बदल गया?

आर्थिक विज्ञान में सेवरिग्स रिक्सबैंक पुरस्कार अल्फ्रेड नोबेल की स्मृति में दिया जाता है।  अल्फ्रेड नोबेल ने अपनी वसीयत में अर्थशास्त्र पुरस्कार का उल्लेख नहीं किया था। स्वेरिग्स रिक्सबैंक ने 1968 में पुरस्कार की स्थापना की और रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज को 1969 में शुरू होने वाले आर्थिक विज्ञान में पुरस्कार विजेताओं के चयन का कार्य दिया गया।

गोल्डिन समाधान पेश नहीं करती हैं, लेकिन उनका शोध नीति निर्माताओं को समस्या से निपटने में मददगार साबित हो सकता है।  ‘‘गोल्डिन (श्रम बाजार में) लैंगिक भेदभाव के मूल स्त्रोत पर ध्यान आकर्षित करती हैं और यह कि समय के साथ तथा विकास के क्रम में इसमें किस तरह बदलाव आया।

08:52 am | Admin


Comments


Recommend

Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

Why It's Called olympic ,Know history of Olympics

Olympics ,History Of Olympics

दोस्तो ओलंपिक का नाम तो सभी ने सुना होगा लेकिन इसे ओलंपिक क्यों कहते हैं इसका इतिहास क्या है ये आज हम इस पोस्ट मे सरल शब्दों मे समझेंगे...

0
Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

New National Award for Science

Govt Announces New National Award of Sciences

नये राष्ट्रीय विज्ञान पुरस्कार की स्थापना  भारत सरकार ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के क्षेत्र में नए राष्ट्रीय पुरस्कारों ...

0

Subscribe to our newsletter