Besar style of temple construction

0903,2024

मंदिर निर्माण की बेसर शैली

⇒ इस शैली के मंदिर विंध्याचल पर्वत से लेकर कृष्णा नदी तक पाए जाते हैं।  नागर और द्रविड़ शैलियों के मिले-जुले रूप को बेसर शैली कहते हैं।

• कई इतिहासकार इस बात से सहमत हैं कि वेसर शैली की उत्पत्ति आज के कर्नाटक में हुई थी।

• माना जाता है कि वेसार शब्द की उत्पत्ति संस्कृत शब्द विश्रा से हुई है जिसका अर्थ है लंबी सैर करने वाला क्षेत्र।

⇒बेसर शैली के मंदिरों का आकार आधार से शिखर तक गोलाकार (वृत्ताकार) या अर्द्ध गोलाकार होता है।

• इस शैली में संरचनाओं को बारीक रूप से तैयार किया गया है, आकृतियों को बहुत अधिक सजाया गया है और अच्छी तरह से पॉलिश किया गया है।

• इसमें द्रविड़ शैली के अनुरूप विमान होते हैं पर ये विमान एक-दूसरे से द्रविड़ शैली की तुलना में कम दूरी पर होते हैं जिसके फलस्वरूप मंदिर की ऊँचाई कुछ कम रहती है।

• विमान शिखर छोटा, फ़ैले कलश, मूर्तियों का आधिक्य, अलंकरण परम्परा का बाहुल्य ही इनकी विशेषता है।

• इस शैली की शुरुआत बादामी के चालुक्यों (500-753AD) द्वारा की गई थी, जिन्होंने इस शैली में मंदिरों का निर्माण किया था। 

• इसे चालुक्य शैली भी कहा जाता है। होयसल के अंतर्गत यह शैली अपने उच्चतम स्तर पर पहुंची।

• बेलूर, हलेबिदु और सोमनाथपुरा के होयसला मंदिर इस शैली के प्रमुख उदाहरण हैं।

• होयलेश्वर मंदिर, विजयेश्वर मंदिर, विरूपाक्ष मंदिर, कल्लेश्वर मंदिर, कुक्कनूर; रामलिंगेश्वर मंदिर, गुडूर; महादेव मंदिर, इट्टागी: काशीविश्वेश्वर मंदिर आदि इस शैली के अन्य उदाहरण हैं।

12:27 pm | Admin


Comments


Recommend

Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

What is the legal position on live-in relationships? | Explained

current affairs

क्या है लिव-इन रिलेशनशिप की कानूनी स्थिति ? ⇒हाल ही में इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने निर्णय दिया कि इस्लाम का पालन करने वाला कोई भी शाद...

0
Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

Forbs 2023 Top 100 powerful womens of the world ,list of indians in top 100

100 powerful womens

फोर्ब्स 2023 ,100 प्रभावशाली महिलाएं ,लिस्ट मे कौन भारतीय हैं   मशहूर पत्रिका फोर्ब्स ने हाल ही में साल 2023 के लिए दुनिया की सबसे ताकतवर म...

0

Subscribe to our newsletter