Nobel Prize on physiology or Medicine 2023

0210,2023

नोबेल पुरस्कारों की घोषणा आज से शुरु हो.गई है इस क्रम मे सबसे पहले चिकित्सा के नोबेल पुरस्कार की घोषणा की गई ,अब धीर-धीरे अर्थव्यवस्था, शांति ,भौतिकी,रसायन के भी पुरस्कारों की घोषणा की जाएगी।।।

Covid-19 महामारी को रोकने के लिए mRNA वैक्सीन विकसित करने वाले वैज्ञानिकों कैटेलिन कैरिको (Katalin Kariko) और ड्रू वीजमैन (Drew Weissman) को चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार मिला है. इस वैक्सीन के जरिए इन दोनों वैज्ञानिकों ने दुनियाभर की सोच बदल दी.कोविड ऐसा दौर था जो अपने प्रकोप से पूरी दूनिया को डरा रहा था ,नयी बीमारी होने की वजह से इसका कोई इलाज नही था।।तब इन वैज्ञानिकों ने इसके लिए वैक्सीन खोजकर करोड़ो लोगों की जान बचाई थी।

ऐसी ही स्थिति 1951 में हुई थी. जब यलो फीवर से दुनिया तबाह थी. उस समय मैक्स थीलर को इस बीमारी की वैक्सीन विकसित करने के लिए चिकित्सा का नोबेल प्राइज दिया गया था. कैटेलिन कैरिको और ड्रू वीजमैन ने वायरस के RNA को समझा. फिर इंसान के शरीर में होने वाले बदलावों को समझा. जेनेटिक लेवल पर RNA कैसे टूट रहा है.और फिर इसका उपाय ढुंढा और वैक्सीन बनाई।।।

 

पिछले साल स्वीडिश वैज्ञानिक स्वांते पाबो ने मानव विकास क्रम में खोज के लिए फिजियोलॉजी या चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार जीता था। उनकी खोज ने निएंडरथाल डीएनए के रहस्यों का खुलासा किया था, जिसने गंभीर कोविड -19 के प्रति हमारी संवेदनशीलता सहित हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली के सिलसिले में महत्वपूर्ण अंतर्दृष्टि प्रदान की थी। निएंडरथल वास्तव में प्राचीन मानव समूह के सदस्य थे जो कम से कम 200,000 साल पहले, प्लेइस्टोसिन युग के दौरान उभरे  था।

नोबेल पुरस्कारों के बारे में डिटेल से जानने व किन भारतीयों को अब तक मिल चुका है जानने के लिए मुझे क्लिक करें

05:10 am | Admin


Comments


Recommend

Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

Current Affairs Weekly in Hindi

Current Affairs ,November

◆54वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) का आयोजन गोवा में किया जा रहा है. इसका उद्घाटन बम्बोलिम के श्यामा प्रसाद मुखर्ज...

0
Jd civils,Chhattisgarh, current affairs ,cgpsc preparation ,Current affairs in Hindi ,Online exam for cgpsc

No Coaching For Under 16 Student ,Govt Issue Guidelines

Current affairs in hindi 2023

16 वर्ष से कम उम्र के बच्चे नही कर पाएंगे कोचिंग ◆शिक्षा मंत्रालय द्वारा घोषित नए दिशानिर्देश के अनुसार कोचिंग संस्थान 16 साल से कम उम्...

0

Subscribe to our newsletter